बाल-ए-जिबरील

[Bal-e-Jibreel][bleft]

बांग-ए-दरा

[Bang-e-Dra][bleft]

ज़र्ब-ए-कलीम

[Zarb-e-Kaleem][bleft]

Khirad Waqif Nahin Hai | ख़िरद वाक़िफ़ नहीं है

 

ख़िरद वाक़िफ़ नहीं है नेक-ओ-बद से 
बढ़ी जाती है ज़ालिम अपनी हद से। 
ख़ुदा जाने मुझे क्या हो गया है 
ख़िरद बेज़ार दिल से, दिल ख़िरद से। 

This reason of mine knows not good from evil;
And tries to exceed the bounds that nature fixed;
I know not what has happened to me of late,
My reason and my heart are ever at war.
___

English Translation: Iqbal Urdu Blog