बाल-ए-जिबरील

[Bal-e-Jibreel][bleft]

बांग-ए-दरा

[Bang-e-Dra][bleft]

ज़र्ब-ए-कलीम

[Zarb-e-Kaleem][bleft]

Mataa-e-Be Baha | मताअ-ए-बे-बहा



मताअ-ए-बे-बहा है दर्द-ओ-सोज़-ए-आरज़ूमन्दी 
मक़ाम-ए-बन्दगी देकर न लूं शाने-ए-ख़ुदावन्दी !
Slow fire of longing—wealth beyond compare;
I will not change my prayer‐mat for Heaven’s chair!
*

तेरे आज़ाद बन्दों की न यह दुनिया, न वो दुनिया
यहाँ मरने की पाबन्दी, वहाँ जीने की पाबन्दी !
Ill fits this world of Your freemen, ill the next:
Death’s hard yoke frets them here, life’s hard yoke there.
*

हिजाब-ए-इकसीर है आवारा-ए-कूए मुहब्बत को 
मेरी आतिश को भड़काती है तेरी दैर पैवन्दी !
Close veils inflame the loiterer in Love’s lane;
Your long reluctance fans my passion’s flare.
*

गुज़र औक़ात कर लेता है यह कोहो बयाबाँ में 
क: शाहीं के लिए ज़िल्लत है कार-ए-आशियाँबन्दी 
The hawk lives out his days in rocks and desert,
Tame nest‐twig‐carrying his proud claws forswear.
*

यह फैज़ान-ए-नज़र था या क: मकतब की करामत थी
सिखाए किसने इसमाईल को आदाब-ए-फरज़न्दी !
Was it book‐lesson, or guide's glance, that taught
The son of Abraham what son should bear?
*

ज़ियारतगाह-ए-अहले अज़्म-ओ-हिम्मत है लहद मेरी 
क: ख़ाक-ए-राह को मैंने बताया राज़-ए-अल्वन्दी !
Bold hearts, firm souls, come pilgrim to my tomb;
I taught poor dust to tower hill‐high in air.
*

मेरी मश्शात्गी की क्या ज़रुरत हुस्न-ए-माअनी को 
क: फ़ितरत ख़ुद-बख़ुद करती है लाले की हिनाबन्दी !
Truth has no need of me for tiring‐maid;
To stain the tulip red is Nature’s care.
___

English Translation: Iqbal Urdu Blog