बाल-ए-जिबरील

[Bal-e-Jibreel][bleft]

बांग-ए-दरा

[Bang-e-Dra][bleft]

ज़र्ब-ए-कलीम

[Zarb-e-Kaleem][bleft]

Tere Sheeshe Me Mey Baqi Nahi Hai | तेरे शीशे में मय बाक़ी नहीं है



तेरे शीशे में मय बाक़ी नहीं है
बता, क्या तू मेरा साक़ी नहीं है.

समन्दर से मिले प्यासे को शबनम
बख़ीली है, यह रज़्ज़ाक़ी नहीं है.
___