बाल-ए-जिबरील

[Bal-e-Jibreel][bleft]

बांग-ए-दरा

[Bang-e-Dra][bleft]

ज़र्ब-ए-कलीम

[Zarb-e-Kaleem][bleft]

Ye Nukta Mene Seekha | यह नुक्ता मैंने सीखा

 
यह नुक्ता मैंने सीखा [अ]बुल-हसन से 
क: जान मरती नहीं मर्ग-ए-बदन से। 
चमक सूरज में क्या बाक़ी रहेगी 
अगर बेज़ार हो अपनी किरन से। 

Life would not end with the death of the body
I learnt from Abul Hasan:
The sun, if it would hate its beam
Will lose all its brilliance.
___

बू-अल-हसन: अबुल हसन अशअरी
___

 English Translation: Iqbal Urdu Blog