बाल-ए-जिबरील

[Bal-e-Jibreel][bleft]

बांग-ए-दरा

[Bang-e-Dra][bleft]

ज़र्ब-ए-कलीम

[Zarb-e-Kaleem][bleft]

Mairaj | मैराज



दे वलवला-ए-शौक़ जिसे लज़्ज़त-ए-परवाज़
कर सकता है वो ज़र्रा महो महर को ताराज
A mote endowed with strong desire for flight
Can reach the Sun and Moon with effort slight.
*

मुश्किल नहीं यारान-ए-चमन ! मअरका-ए-बाज़
पुरसोज़ अगर हो नफ़स-ए-सीना-ए-दुर्राज !
If chest of partridge fire and zeal emit,
My friends, in fight with hawk it can acquit.
*

नावक है मुसलमाँ, हदफ़ इसका है सुरय्या
है सिर्र-ए-सरा पर्दा-ए-जाँ नुक्ता-ए-मैराज !
Ascension means to gauge a Muslimʹs heart,
The Pleiades are the target of his dart.
*

तू माअनी-ए-"वन-नज्म*" न समझा तो अजब क्या
है तेरा मद-ओ-जज़र अभी चाँद का मोहताज !
No wonder, meanings of Najm from you hide,
On Moon depends your oceanʹs ebb and tide.
*

वन-नज्म: क़ुरान की एक सूरत जिसमे हज़रत मुहम्मद (सल.) की तारीफ़ बयान की गयी है और अल्लाह से उनकी मुलाक़ात का मोहक वर्णन है.
___

English Translation: Iqbal Urdu Blog