बाल-ए-जिबरील

[Bal-e-Jibreel][bleft]

बांग-ए-दरा

[Bang-e-Dra][bleft]

ज़र्ब-ए-कलीम

[Zarb-e-Kaleem][bleft]

Nazreen Se | नाज़रीन से



जब तक न ज़िन्दगी के हक़ाइक़ पे हो नज़र
तेरा ज़ुजाज हो न सकेगा हरीफ़-ए-संग।
Your glass can never match the stony rock,
Unless of facts with care you take the stock.
*

यह ज़ोर-ए-दस्त-ओ-ज़रबत-ए-कारी का है मक़ाम
मैदान-ए-जंग में न तलब कर नवाए चंग।
Give proof of strength and strike a dreadful blow,
When war is waging strains of harp forego.
*

ख़ून-ए-दिलो जिगर है सरमाया-ए-हयात
फ़ितरत 'लहू तरंग' है ग़ाफ़िल ! न 'जल-तरंग'
The wealth of life is due to blood in veins,
O man remiss! love pain, shun melodious strains.
___

English Translation: Iqbal Urdu Blog